समय

मेरै अगाडि उभिएको

एउटा बलात्कारी समय, 

मुसुक्क मुस्कुराँउछ, 

मेरो प्रशंसा गर्दै... 

'भर्जीनिटी' को प्रमाणपत्र 
कहाँ छपाँउछ कुन्नी ! 

No comments:

Post a Comment